click to enable zoom
Loading Maps
We didn't find any results
open map
View Roadmap Satellite Hybrid Terrain My Location Fullscreen Prev Next
Advanced Search
We found 0 results. Do you want to load the results now ?
Advanced Search
we found 0 results
Your search results

जानिए कौन सी नस्ल की बकरी को पाल कर आप मालामाल हो सकते हैं? – गांव गुरु

Posted by Pramod on March 21, 2018
| 0

किसान भाइयों सिरोही नाम की बकरी व्यवसाय के लिहाज से काफी फायदे का सौदा माना जाता है| अगर आप सही ढंग से चारा खि‍लाएंगे तो महज 8 महीने में यह बकरि‍यां 30 कि‍लो तक वजनी हो जाती हैं। यही चीज इस बकरी को औरों के मुकाबले ज्‍यादा प्रॉफि‍टेबल  बनाती हैं। आप इसे पास की मंडी में ले जाकर भारी रकम में बेच सकते हैं।

इसका नाम राजस्थान के सिरोही जिले के नाम पर पड़ा है| सिरोही के अलावा जयपुर, अजमेर और यूपी में इस ब्रीड की बकरी पाली जाती है| इस बकरी की खासियत यह है कि यह कड़े मौसम में भी पल बढ़ जाती है| इंडियन काउंसिल फॉर एग्रीकल्चर रिसर्च ( आईसीएआर ) ने इस बारे में एक सफल कारोबारी की कहानी भी शेयर की है|

इसमें मध्य प्रदेश के धार जिले के दीपक के बारे में बताया गया है| जिसने 2001 में अपने गांव में बकरी पालन शुरू किया| शुरू में उसे नुकसान हो रहा था| तब सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च ऑन गोट्स ( सीआईआरजी) के वैज्ञानिकों ने वहां का दौरा किया| और उसे सिरोही बकरी पालने की सलाह दी| उसके बाद से दीपक का घाटा मुनाफे में तब्दील हो गया|

इसे खासतौर पर मीट के कारोबार के लिए पाला जाता है| क्योंकि यह बहुत तेजी से बढ़ती है| यह दूध भी अच्छा देती है| गांव कस्बा या शहर आप इसे कहीं भी पाल सकते हैं|

इस लेख में हम इन सिरोही बकरी को पालने से जुड़े इन पहलुओं की जानकारी देंगे|

कैसे करें सिरोही बकरी की पहचान? और जानिए कब बच्चे देना शुरु करती है?

सिरोही बकरी की पहचान

सिरोही बकरी के बॉडी पर गोल भूरे रंग के धब्बे बने होते हैं| यह पूरे शरीर में फैले हुए हैं| इसके कान बड़े बड़े होते हैं| और सिंह हल्के से कर्व वाले होते हैं| सिरोही बकरी की हाइट मीडियम होती है|

सिरोही बकरी साल में दो बार बच्चों का जन्म देती है| आमतौर पर 2 बच्चों को 7:00 जन्म देती है| सिरोही बकरी 18 से 20 माह की उम्र के बाद बच्चे देना शुरु कर देती है| नए बच्चों का वजन 2से 3 किलो होता है|

सिरोही बकरी खास तौर पर मीट के लिए पाला जाता है –

सिरोही बकरी को खास तौर पर मीट के लिए पाला जाता है| हालांकि यह दूध भी ठीक-ठाक देती है आमतौर पर सिरोही बकरी आधा लीटर से लेकर 700 एमएल तक दूध देती है| सिरोही बकरी कि दो बड़ी खासियत यह है कि एक तो गर्म मौसम को आराम से झेल लेती है और दूसरा यह बढ़ती बहुत तेजी से है| इसकी एक और खासियत यह है कि इस बकरी के विकास के लिए इसे चारागाह वगैरह में ले जाने की जरूरत बिल्कुल नहीं है| यह बकरी फॉर्म में ही अच्छे से पल बढ़ सकती है|आमतौर पर सिरोही बकरी का वजन 33 किलो और बकरे का वजन 30 किलो तक होता है|

जानिए कहां मिलती है सिरोही बकरी ?

सिरोही बकरी आपको राजस्थान की लोकल बाजार में मिल जाएगी| बेहतर होगा आप इसे खरीदने के लिए सिरोही जिले के बाजार का ही रुख करें| वैसे तो इनकी कीमत इस बात पर निर्भर करती है कि बाजार में कितनी बकरियां बिकने के लिए आई हुई है, मगर मोटे तौर पर बकरी की कीमत ₹350 प्रति किलो और बकरे की कीमत ₹400 प्रति किलो होती है| इसे आप एक अंदाजे के तौर पर लेकर चलें ताकि आपको मोल भाव करने में सहूलियत रहे|

कैसे करें सिरोही बकरी का पालन ?

सिरोही बकरी का पालन करने के लिए हमें निम्न बातों का ध्यान देना चाहिए –

सिरोही बकरी का पालन

जानिए कौन सी नस्ल की बकरी को पाल कर आप मालामाल हो सकते हैं? – गांव गुरु

1) अगर आप का इलाका गर्म और सूखा है तो आप 100 फ़ीसदी सिरोही ब्रीड बकरी भी खरीद कर उसका पालन शुरू कर सकते हैं| लेकिन बिहार या झारखंड जैसे इलाके हैं तो फिर क्रॉस ब्रीड लाएं| वैसे तो आपको इनका पालन बंद फार्म में ही करना चाहिए| मगर फिर भी ऐसा कर लेने से बच्चों के मरने का औसत कम हो जाता है| क्योंकि हम आपको बता ही चुके हैं कि यह बकरियां गर्म और सूखे मौसम में ज्यादा अच्छे से बढ़ती हैं|

2) अगर आपके पास चराने की जगह नहीं है तो कोई दिक्कत नहीं| सिरोही बकरी की बड़ी खासियत है कि इससे आप फॉर्म में चारा खिलाकर पाल सकते हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published.